8 देशों 25 राज्यों और 200 शहरों में फैला है मिरिख इंफ्राटेक का साम्राज्य 

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

सिर्फ 12 वर्षों के समय अंतराल में परिश्रम और साहस के द्वारा प्राप्त की गई सफलता का दूसरा नाम है मिर्रीख इंफ्राटेक के फाउंडर और डायरेक्टर राजिल जांगिड़ मूल राजस्थान सीकर के निवासी राजील जांगिड़ ने मिर्रिख इंफ्राटेक की स्थापना की वह भारत सहित विदेशी निवेशकों को धोलेरा में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित करते रहते हैं 2030 तक अपनी कंपनी का नेटवर्क 5000 करोड़ तक ले जाने का टारगेट है।

नौ देशों – भारत के 25 राज्यों में विश्वास के प्रतीक मिरिक इंफ्राटेक का विस्तार कर रहे हैं राजील जांगिड़ 

मिर्रिख इन्फ्राटेक के दूरदर्शी फाउंडर एंड डायरेक्टर राजिल जांगिड़ के पास MA, MBA और DITकी डिग्री है। वह कपड़ा व्यवसाय शुरू करने के विचार के साथ वर्ष 2008 में सूरत आए थे, लेकिन 2016 में राजिल जांगिड़ ने इंफ्राटेक के साथ आसमान छूने का अपना नया सफर शुरू किया। अभी भी 90% लोग धोलेरा सर जमीन के बारे में पर्याप्त नहीं जानते हैं। दुनिया में केवल दो शहरों को प्लैटिनम रेटेड शहरों के रूप में मान्यता दी गई है एक वॉशिंगटन डीसी और दूसरा हमारा धोलेरा। दुबई में भी तीन गुना एडवांस होगा धोलेरा। एक निवेशक के लिए सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर सुरक्षित वातावरण है उदाहरण के तौर पर टाटा नैनो परियोजना के लिए सिंगूर से अधिक सुरक्षित वातावरण सानंद का साबित हुआ है, इसी तरह धोलेरा वैश्विक निवेशकों के लिए भारत में सबसे सुरक्षित स्थान है धोलेरा। जिस प्रकार दुबई ने संयुक्त अरब एमिरेट्स को बदल दिया, जिस प्रकार निवेशकों ने नोएडा और गुड़गांव का विकास देखा है, इस तरह धोलेरा भी भारत के परिवर्तन का केंद्र है वे रजील जांगिड़ के शब्द हैं जो धोलेरा में विदेशी निवेशकों में यूएई के एनआरआई का सबसे अग्रणी मानते हैं क्योंकि यह भविष्य में धोलेरा के महत्व को समझ रहे हैं दूसरी ओर देश में उत्तर भारतीय निवेशक भी धोलेरा में अपना भविष्य देख रहे हैं। धोलेरा इतना महत्वपूर्ण क्यों है इसका जवाब देते हुए वह कहते हैं कि धोलेरा डीएमआईसी (दिल्ली मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर) का दिल और दिमाग है धोलेरा की डीएमआईसी और वेस्टर्न डेडीकेटेड फ्रंट कॉरिडोर और डीएफसी में भी कनेक्टिविटी है। धोलेरा वैश्विक स्तर का इंफ्रास्ट्रक्चर सामाजिक इंफ्रास्ट्रक्चर लाइव वर्कप्ले इस का बिजनेस सस्ते सस्टेनेबिलिटी और फास्ट ट्रैक अप्रूवल, वेस्टवाटर ट्रीटमेंट एंड रीसाइकिल सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, रिवरफ्रंट वॉकवे रोड और अंडरग्राउंड सर्विसेज जैसी सुविधा रखता है। धोलेरा स्मार्ट सिटी 920 वर्ग किलोमीटर में फैली हुई है।

Introduction Dholera, a name that resonates with vision, innovation, and transformation, is steadily becoming a focal point for development in India. Situated in the state of Gujarat, the Dholera Special Investment Region (DSIR) is one of the most ambitious projects…

With great expectations and controversy around it, the Dholera International Airport project is expected to play a significant role in Gujarat, India's infrastructure and economy. This airport, which is situated in the Dholera Special Investment Region (DSIR), is a deliberate…

In the heart of Gujarat, India, lies Dholera, a city designed to set benchmarks in urban planning and infrastructure. As one of the most ambitious smart city projects under India's Smart Cities Mission, the Dholera Special Investment Region (DSIR) embodies…

Ready to
Connect with us?